Personalized
Horoscope

Vrishabha Saptahik Rashifal - Taurus Weekly Horoscope in Hindi - वृष साप्ताहिक राशिफल

Taurus Rashifal

6/1/2020 - 6/7/2020

इस सप्ताह चन्द्रमा आपके पंचम भाव में होंगे और फिर षष्टम, सप्तम और अष्टम भाव में गोचर करेंगे। सप्ताह की शुरुआत में, जिस वक्त चन्द्र आपकी राशि के पंचम भाव में विराजमान होंगे, उस समय आपको अच्छे फलों की प्राप्ति होगी। क्योंकि ये भाव आपके पूर्व जन्म, प्रेम सम्बन्ध, आपकी बुद्धि, आपकी संतान, आपके रुझान, कलात्मकता का भाव होता है। और इस समय आपके पंचम भाव के स्वामी बुध देव भी मजबूत स्थिति में दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में इनके परिणामस्वरूप आपको अपने कार्यक्षेत्र में, आगे बढ़ने के कई अवसर प्राप्त होंगे। इससे आप अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करके, अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए, अपने धन को संचय करने में भी सफल होंगे। नए कार्यों की शुरुआत के लिए भी, यह समय उत्तम रहेगा। आपके निजी जीवन को देखें तो, आपको इस दौरान अपने परिवार का भरपूर साथ मिलेगा। साथ ही आपके भाई-बहन भी, आपका सहयोग करते दिखाई देंगे। हालांकि दांपत्य जीवन में, संतान पक्ष की सेहत आपके तनाव में वृद्धि कर सकती है। इसके बाद चन्द्रमा, आपकी राशि के षष्ठम भाव में विराजमान हो जाएंगे, जिससे बीमारी, विरोधी, वाद विवाद, कोर्ट कचहरी, कर्जा, बैंक लोन, संघर्ष, प्रतियोगिता, प्रतियोगी परीक्षाएं, चुनाव, कोर्ट-कचहरी का ज्ञात होता है। ऐसे में आप इस समय, उन्नति करेंगे। चंद्रमा की इस स्थिति के चलते, आप हर कार्य को सफलतापूर्वक करने के लिए, हर संभव प्रयास करते भी दिखाई देंगे, जिसे देख आपको अपने कार्यक्षेत्र में, बड़े स्तर पर सफलता और प्रतिष्ठा की प्राप्ति होगी। यदि पूर्व का कोई मामला कोर्ट-कचहरी में निलंबित पड़ा था तो, इस समय उसका फैसला आपके पक्ष में आने की संभावना अधिक रहेगी। आप इस समय अपने किसी पुराने कर्ज को भी उतारने में सफल होंगे। हालांकि इस समय भी आपको खांसी-जुखाम के कारण, अपनी सेहत से जुड़ी कुछ तकलीफ़ लगी रहेंगी। इसके बाद सप्ताह के मध्य में, चन्द्र आपके सप्तम भाव की ओर प्रस्थान करेंगे, जिससे आपके विवाह, वैवाहिक जीवन, इंपोर्ट-एक्सपोर्ट, व्यावसायिक साझेदारी, लंबे चलने वाले रिश्ते के बारे में पता चलता है। इस दौरान व्यवसाय करने वाले जातकों को, बिज़नेस साझेदार संग अपने रिश्तों में विश्वास की कमी खलेगी। इसलिए आपको समय-समय पर, उनके साथ सही संवाद करते रहने की जरूरत होगी, ताकि आप दोनों व्यवसाय को सही तरीके से चलाने में सफल हो। यात्रा करने से इस समय बचना होगा, अन्यथा आपको हानि संभव है। फिर अंत में, चन्द्र आपकी राशि के अष्टम भाव में गोचर करेंगे, जो आपका आयु का भाव होता है, और इससे लंबी बीमारी, अचानक से धन हानि लाभ, मानसिक तनाव, बड़े परिवर्तनों को देखा जाता है। इसके साथ ही, इस दौरान छाया ग्रह केतु भी आपके दूसरे भाव में युति बना रहे हैं। ऐसे में ग्रहों की इस स्थिति में, आपको थोड़ा सावधान रहने की जरूरत होगी। विशेष तौर पर कुछ भी बोलते समय, अपने शब्दों का खास ध्यान रखें, अन्यथा उससे आप न चाहते हुए भी किसी को आघात कर सकते है। इसके चलते आपके निजी और पेशेवर दोनों ही जीवन में तनाव की वृद्धि होगी। चंद्रमा की ये स्थिति, आपके ख़र्चों में वृद्धि का मुख्य कारण बनेगी, जिससे आपकी आर्थिक तंगी संभव है। इसलिए अपने धन को सही रणनीति और सही योजना के अनुसार ही खर्च करें। उपाय: हर शुक्रवार के दिन, सफेद चीजें जैसे: चावल, गेहूं का आटा, आदि दान करें।