Personalized
Horoscope

Simha Masik Rashifal in Hindi - Simha Horoscope in Hindi - सिंह मासिक राशिफल

Leo Rashifal

स्वास्थ्य: स्वास्थ्य के मामले में इस महीने आपको मिले जुले परिणाम ही मिलेंगे, लेकिन सामान्य तौर पर कहा जा सकता है कि स्वास्थ्य कुछ कमजोर हो सकता है, जिसकी वजह है आपकी राशि का स्वामी सूर्य, राहु के साथ पीड़ित अवस्था में है। उसके अतिरिक्त छठे भाव में शनि है और अष्टम भाव में मंगल है तथा देव गुरु बृहस्पति भी केतु और राहु के प्रभाव में होने के कारण पीड़ित अवस्था में हैं। ऐसे में आपके मुख्य ग्रह पीड़ित हैं और राशि का स्वामी भी पीड़ित होने के कारण स्वास्थ्य समस्याएं आ सकती हैं। आपकी इम्यूनिटी इस दौरान कमजोर हो सकती है। इसी वजह से कुछ हल्की-फुल्की समस्याएं भी आपको बड़ी महसूस हो सकती हैं। इस दौरान पेट से संबंधित दिक्कतें आ सकती हैं या फिर कान अथवा पैर में दिक्कत हो सकती है। विशेष रूप से आपको इस दौरान गुर्दा रोग के प्रति सचेत रहना चाहिए। अत्यधिक तले और भुने भोजन से रक्त संबंधित दिक्कतें मंगल की वजह से हो सकती हैं। ध्यान दें की जरा सी लापरवाही आपके लिए बड़ी समस्या बन सकती है।

कैरियर: यदि आपके करियर की बात की जाए तो इसमें आपको अधिक चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। बस आपको एक बात का ध्यान रखना है कि आपका कोई बॉस या वरिष्ठ अधिकारी आपके विरुद्ध कोई ग़लतफहमी अथवा दुर्भावना का शिकार हो सकता है और उसका असर आपके काम पर पड़ सकता है, क्योंकि उससे आपके संबंध बिगड़ सकते हैं। ऐसे में आपको उसके द्वारा किए गए किसी भी कार्य के प्रति सजग रहना होगा, अन्यथा आप के काम में दिक्कतें आ सकती हैं। वहीं दूसरी ओर महिला सहकर्मियों की सहायता से आप अपने काम को बेहतर अंजाम दे पाएंगे तथा उनसे अच्छा व्यवहार करना आपके काम को प्रशंसा दिलवाएगा, क्योंकि शुक्र की कृपा इसी प्रकार मिल सकती है। इसके अतिरिक्त छठे भाव में उपस्थित शनिदेव नौकरी में स्थायित्व देंगे और आपकी नौकरी टिकेगी। इससे आपका भी कंपनी पर भरोसा बनेगा और मैनेजमेंट का आप पर, जिससे कि आपकी नौकरी के लिए समय काफी अनुकूल हो जाएगा। यदि व्यापार की बात की जाए, तो इस दौरान मिले जुले परिणाम मिल सकते हैं। अधिक बड़े काम की उम्मीद इस दौरान आपको नहीं करनी चाहिए और जैसे चल रहा है, उसको वैसे ही चलने देना बेहतर रहेगा।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: प्रेम संबंधित मामलों के लिए यह महीना अधिक अनुकूल नहीं है, क्योंकि आपके रिश्ते में गलतफहमियों का दौर आ सकता है और एक दूसरे को अच्छे से समझ ना पाने के कारण आपके मन में एक दूसरे के प्रति कुछ दुर्भावना अथवा ग़लतफहमी उत्पन्न हो सकती है, जो आपके रिश्ते की खराबी का कारण बन सकती है। इसलिए बेहतर होगा समय रहते आपस में मिल बैठकर बातचीत कर लें और जो समस्याएं चली आ रही हैं, या जो आपके बीच कोई समस्या का कारण है, उसे दूर करने का प्रयास करें, ताकि आपकी लव लाइफ संतुलित रह पाए। आपको बहुत आवश्यक हो तो ही उनसे मिलना चाहिए, अन्यथा इस समय को धीरे-धीरे गुज़र जाने देने में ही भलाई है, क्योंकि ज्यादा मिलने से आपके मन से कुछ ऐसी बातें निकल सकती हैं, जो उनको चुभ जायें और नतीजा आपके रिश्ते पर घात के रूप में हो। यदि दांपत्य जीवन की बात की जाए तो सप्तम भाव का स्वामी शनि छठे भाव में विराजमान है और अष्टम भाव में मंगल है। अर्थात सप्तम भाव पाप कर्तरी योग में स्थित होने के कारण आपके दांपत्य जीवन के लिए यह समय अधिक अनुकूल नहीं कहा जा सकता। हालांकि इसमें ना ही आपकी और ना ही आपके जीवनसाथी की कोई गलती होगी बल्कि समय के कारण कुछ अच्छे कार्य भी गलत दिशा की ओर मुड़ सकते हैं, जिससे रिश्ते में तनाव बढ़ा रह सकता है या फिर जीवन साथी और आपके बीच तालमेल का अभाव रह सकता है, लेकिन धीरे-धीरे स्थितियाँ अवश्य सुधरेंगी और आपका दांपत्य जीवन पहले के मुकाबले अधिक बेहतर बनेगा। उसके लिए आपको आगे आना होगा और अपने जीवन साथी को यह एहसास दिलाना होगा कि वास्तव में आपको उनकी आवश्यकता है और आप दोनों एक दूसरे के लिए ही बने हैं। तभी आप अपने जीवन साथी के विश्वास को जीतकर इस रिश्ते को और मजबूती दे पाएंगे। यदि संतान की बात की जाए तो संतान आज्ञाकारी तो होगी, लेकिन इस दौरान उन्हें अपनी पढ़ाई अथवा प्रोफेशनल लाइफ़ में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

सलाह: सिंह राशि वाले जातकों को इस महीने विशेष रूप से कुछ उपाय करने चाहिए, क्योंकि उनका राशि स्वामी सूर्य उच्च के राहु के साथ स्थित होकर कमजोर स्थिति में है। ऐसे में मान और यश की हानि को रोकने के लिए आपको माणिक्य रत्न धारण करना चाहिए और आप साथ ही साथ सोने का सूर्य बनवा कर लाल धागे अथवा सोने की चेन में रविवार के दिन प्रातः 8:00 से पूर्व धारण करें तथा अपने घर के मुख्य द्वार पर श्वेतार्क का पौधा लगाएँ और उसे जल देकर सिंचित करें। इसके अतिरिक्त अपने पिता की सेवा करें और उनका सम्मान करें तथा मस्तक पर प्रतिदिन केसर का तिलक लगाएँ। इससे आपको बेहतरीन परिणाम मिलेंगे।

सामान्य: सिंह राशि के जातकों में एक विशेष बात होती है कि वे किसी काम को हाथ में लेते हैं, तो उसे खत्म करके ही दम लेते हैं। इस महीने आपको इसकी सख्त आवश्यकता पड़ेगी, क्योंकि आपके कई कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं, जिसमें आपकी दृढ़ इच्छाशक्ति और आत्मबल ही आपके काम आएगा और आपको सफलता दिलाएगा। स्वास्थ्य के प्रति आपको सचेत रहना होगा और छोटे भाई बहनों के प्रति अच्छा व्यवहार रखना होगा, क्योंकि इस महीने में वे आपके बहुत काम भी आने वाले हैं और वास्तव में वे आपके प्रेम के पात्र भी हैं। पारिवारिक जीवन बढ़िया चलेगा और आप को सुकून मिलेगा। कुछ अटकी परियोजनाएं पुनः चलेंगी और आपकी कुछ इच्छाओं की पूर्ति इस महीने हो सकती है। हालांकि महीने का उत्तरार्ध आपके पिताजी के लिए अधिक अनुकूल नहीं होगा, लिहाजा उनका ध्यान रखें।

वित्त: आर्थिक मामले में काफी अच्छा समय आ सकता है। इस दौरान आपको जोड़-तोड़ से काफी अच्छा लाभ मिलेगा। यदि आप किसी ऐसे क्षेत्र में काम करते हैं, जहां आपको कमीशन की प्राप्ति होती है, तो इस दौरान जबरदस्त लाभ होने के योग बनेंगे। इसके अतिरिक्त कुछ गुप्त आमदनी होने की भी संभावना है। खर्चे हल्के-फुल्के रहेंगे, जिनकी वजह से कोई बड़ा बोझ आपकी आमदनी पर नहीं पड़ेगा और आपको धन संबंधित बेहतर परिणाम मिलेंगे। दूसरे भाव का स्वामी बुध एकादश भाव में स्थित है और आपकी राशि के स्वामी के साथ है। ऐसे में आप की अनेक परियोजनाएं सफल होंगी और जो काम आपके अटके हुए थे, वे सभी चलने लगेंगे। यदि किसी के पास पैसा फँसा हुआ था, तो इस दौरान वह पैसा वापस आने से भी आपकी आर्थिक समृद्धि होगी। बिज़नेस के द्वारा भी अच्छे परिणाम की प्राप्ति होगी और आप आर्थिक स्तर पर पहले के मुकाबले और अधिक मजबूत होंगे।

पारिवारिक: पारिवारिक जीवन पर नजर दौड़ाई जाए तो वह सामान्यतः अनुकूल रहेगा, लेकिन चतुर्थ भाव का स्वामी मंगल अष्टम भाव में बैठा है और वहां से दूसरे भाव को दृष्टि देता है, जिसकी वजह से हल्की फुल्की समस्याएं आ सकती है। वहीं दूसरी ओर शुक्र की दृष्टि चतुर्थ भाव पर होने से घर में कुछ नए सुख साधनों में वृद्धि होगी और परिवार के लोगों में एक दूसरे के प्रति प्रेम की भावना बढ़ेगी। हालांकि आपके पिताजी का स्वास्थ्य इस दौरान गड़बड़ रह सकता है और उनके कारण आपके निजी जीवन में कुछ समस्याएं आ सकती हैं, लेकिन इसका समाधान भी वही निकाल पाएंगे। आपके कुटुंब को लेकर स्थितियां अच्छी रहेंगी पर कुछ निजी कारणों से सभी लोग एक दूसरे के प्रति वह लगाव महसूस नहीं कर पाएंगे, जो अब तक करते थे। ऐसे में थोड़ा धैर्य का परिचय देना काफी बेहतर रहेगा, क्योंकि अभी इस स्थिति को कुछ समय लग सकता है। बड़े भाई बहनों से कुछ दिक्कतें आ सकती हैं, लेकिन छोटे भाई बहन पूरी तरह से आपके साथ रहेंगे और हर काम में आपकी मदद करेंगे। मातृ पक्ष के लोगों से कुछ फायदा हो सकता है। उधर ससुराल पक्ष से कुछ कहासुनी भी संभव है।