Personalized
Horoscope

Meena Masik Rashifal in Hindi - Meena Horoscope in Hindi - मीन मासिक राशिफल

Pisces Rashifal

स्वास्थ्य: यदि आपके स्वास्थ्य पर नजर डालें तो यह कहा जा सकता है कि आपकी राशि का स्वामी दशम भाव में होने से आप काफी कामों में बिजी रहेंगे, जिसकी वजह से अपने स्वास्थ्य को ध्यान नहीं देंगे, इसलिए आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि मानसिक और शारीरिक दोनों तरीके से आपको स्वयं को आराम देना आवश्यक होगा, नहीं तो वह थकान आपके शरीर की बीमारियों का कारण बन सकती है। चतुर्थ भाव में राहु, सूर्य और बुध की युति और बृहस्पति तथा केतु का प्रभाव आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं है। ऐसे में इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपको सांस लेने में दिक्कत हो सकती है अथवा सीने में जलन की समस्या भी महसूस हो सकती है। इनसे बचने के लिए भरपूर मात्रा में तरल और जलीय पदार्थों का सेवन करें तथा अत्यधिक गर्म भोजन ना करें। केवल इतने से बचाव से ही आप काफी हद तक अपने स्वास्थ्य समस्याओं को दूर कर सकते हैं। आवश्यकता पड़ने पर डॉक्टर को ज़रूर दिखाएं।

कैरियर: अब आइए बात करते हैं आपके करियर की। बृहस्पति की स्थिति दशम भाव में होने से आपको कर्मठ बनाएगी और आप अपने कामों में अपने ज्ञान का पूरा इस्तेमाल करेंगे। आपका विवेक आपके बहुत काम आएगा और यही चुनौतियों के बावजूद आपको अपने कार्यक्षेत्र में जमाये रखेगा। कुछ आपके विरोधी आपके विरुद्ध षड्यंत्र ज़रूर कर सकते हैं, लेकिन वे सफलता अर्जित नहीं कर पाएंगे। इसके अतिरिक्त शुक्र की तीसरे भाव में उपस्थिति इस बात को बताती है कि आपके सहकर्मी बहुत ही अच्छा व्यवहार आपके साथ करेंगे और एकदम मित्रवत रहेंगे। जिससे आप के हर क्षेत्र में आपको लाभ मिलेगा। आपकी योजनाओं में वे आपके साथी बनेंगे और सही मायनों में एक अच्छे मित्र का रोल निभाएंगे। उसके अतिरिक्त एकादश भाव में शनि की स्थिति भी आपको अपने विरोधियों पर हावी रखेगी और आप के वरिष्ठ अधिकारी भी आपका साथ देंगे, लेकिन इस दौरान एक बात का ध्यान आपको रखना होगा, वह यह कि आप अपने गुस्से को नियंत्रण में रखें क्योंकि आपकी राशि में उपस्थित मंगल पर शनि की दृष्टि भी है। कहीं आपका अपने वरिष्ठ अधिकारियों से झगड़ा ना हो जाए। यदि इस बात का आप ध्यान रखेंगे तो सब कुछ ठीक रहेगा। यदि आप व्यापार में हैं तो आपको इस दौरान केवल इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपका बिज़नेस पार्टनर आपके कितना हक की बात करता है क्योंकि संभव है इस दौरान वह कोई ऐसा निर्णय करे,जो आपके विरुद्ध जाए। ऐसे में आपको इस दौरान बड़ा निर्णय लेने से रोकना होगा। हालांकि आमदनी के लिहाज से महीना अच्छा रहेगा।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: यदि आपके प्रेम जीवन की बात की जाए तो यह अच्छा रहेगा। प्यार के मामले में आप काफी संजीदा भी रहेंगे और किसी भी कीमत पर अपने प्रियतम को दूर जाने नहीं देना चाहेंगे। आपके जीवन में प्यार की दस्तक भी होगी और यदि आप अभी तक सिंगल है तो मान कर चलिए कि इस महीने कोई ना कोई आपके जीवन में आ ही जाएगा और संभव है कि अब तक आ गया हो, लेकिन आप उसे पहचान ना पाए हों। अपने चारों ओर नजर घुमा कर देखिए, आपका वह सबसे खास व्यक्ति आपके चारों ओर कहीं ना कहीं आपको दिख ही जाएगा। आपकी लव लाइफ बेहतर तरीके से चलेगी। हां आपको इस बात का ज़रूर ध्यान देना होगा कि कई बार समय अभाव के कारण या किसी अन्य प्रकार की समस्या के कारण आप दोनों का मिलना संभव ना हो पाए, लेकिन इसको गलत नज़रिए से ना देखें, बल्कि अपने प्रियतम पर पूरा विश्वास रखें। यही आपके प्रेम जीवन को बेहतर बनाएगा। यदि आपके दांपत्य जीवन की बात की जाए तो उसके लिए समय थोड़ा सा चुनौतीपूर्ण रह सकता है क्योंकि पहली बात आपके सप्तम भाव पर मंगल की पूर्ण दृष्टि होगी और इसके अतिरिक्त सप्तम भाव का स्वामी बुध भी चतुर्थ भाव में राहु, सूर्य और गुरु के प्रभाव में रहेगा। ऐसे में जहां एक ओर आपका जीवन साथी परिवार के प्रति अपने दायित्वों का पूरा निर्वहन करेगा, फिर भी घर में कुछ गर्मागर्म बहस हो सकती है और आपके माता-पिता से आपके जीवन साथी का झगड़ा हो सकता है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए आपको अपने प्रिय जीवनसाथी से बात करनी चाहिए तथा खुद भी किसी बात का बतंगड़ बनाने से बचना चाहिए, ताकि व्यर्थ के वाद विवाद को रोका जा सके और दांपत्य जीवन में भी तनाव को आने से रोका जा सके।

सलाह: मीन राशि के जातक होने के कारण जुलाई के महीने में आपको शनिवार के दिन शनि देव की उपासना करनी चाहिए और छाया दान अवश्य करना चाहिए, जिससे शनि से संबंधित अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकें। इसके अतिरिक्त आपको सूर्य को मजबूती देनी चाहिए और उसके लिए श्वेतार्क का पौधा घर के मुख्य द्वार पर लगाएँ अथवा पूर्व दिशा में लगाएँ तथा प्रतिदिन उसको जल चढ़ायें। इसके अतिरिक्त आपको पुखराज रत्न धारण करना भी बेहतर परिणाम देगा। यदि पुखराज धारण न कर पाएँ, तो सुनहला रत्न भी कारगर साबित हो सकता है। इसे सोने की मुद्रिका में बृहस्पतिवार के दिन शुक्ल पक्ष के दौरान अपनी तर्जनी उंगली में धारण करें। इसके अतिरिक्त ब्राह्मणों को भोजन कराएं तथा हनुमान चालीसा का नियमित पाठ करें।

सामान्य: मीन राशि के जातक मानसिक तौर पर अधिक सक्रिय होते हैं लेकिन इस महीने आप शारीरिक तौर पर बहुत सक्रिय रहेंगे। खूबसूरत मनोरंजक यात्राएं होंगी, चाहे वे आप पिकनिक के तौर पर करें या फिर सैर सपाटे के लिए, लेकिन ये यात्राएं आपको भीतर तक ताज़गी का अनुभव करायेंगी और आपको सुख देंगी। आप अपने ऑफिस के कर्मचारियों के साथ भी कहीं घूमने का प्लान बना सकते हैं या कोई मूवी देखने जा सकते हैं। परिवार आपका ध्यान खींचेगा और कार्यक्षेत्र में भी हल्की फुल्की चुनौतियाँ रहेंगी, लेकिन आप अपनी काबिलियत के दम पर हर स्थिति को संभाल ही लेंगे। धन के मामले में आप काफी हद तक लाभदायक स्थिति में रहेंगे।

वित्त: आर्थिक दृष्टिकोण से देखें तो आपके एकादश भाव के स्वामी शनि देव एकादश भाव में गोचर कर रहे हैं, जो कि शनि की सबसे अधिक अनुकूल स्थिति कही जाती है। ऐसी स्थिति में आपके लिए एक स्थाई आमदनी का स्रोत यदि आपको अभी तक नहीं मिला है, तो इस दौरान मिल सकता है और यह आपके लिए लंबे समय तक आमदनी प्रदान करते रहेंगे, जिससे आपकी आर्थिक चुनौतियाँ धीरे-धीरे करके समाप्त हो जाएंगी और आप आर्थिक तौर पर काफी समृद्ध होंगे। इसके अतिरिक्त नवम भाव का स्वामी मंगल आपके प्रथम भाव में विराजमान होकर आपको काफी मजबूत बनाएगा और आर्थिक तौर पर आपकी चुनौतियों को नष्ट करेगा केवल इतना ही नहीं द्वितीय और नवम भाव के स्वामी मंगल पर एकादश भाव के स्वामी शनि की दृष्टि भी है, जिससे आपको प्रबल धन योग की स्थिति बनेगी और आपको अनेक प्रकार से लाभ की स्थितियां निर्मित होंगी। आपके खर्चे इस दौरान काफी कम रहेंगे, इसके परिणाम स्वरूप आपको काफी फायदा मिलेगा। इस प्रकार आप इस दौरान काफी अच्छी आर्थिक स्थिति को महसूस करेंगे। व्यापारियों को भी अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे।

पारिवारिक: आपके पारिवारिक जीवन को इस दौरान कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। जहां एक ओर दूसरे भाव का स्वामी मंगल राशि में स्थित होगा जिसकी वजह से कुटुंब के लोग आपको सहारा और समर्थन देंगे तथा कई कामों में आपकी मदद भी करेंगे, वहीं चतुर्थ भाव में राहु, सूर्य और बुध की युति होने से परिवार में एक दूसरे के प्रति छींटाकशी अथवा उल्टी-सीधी बातें करने का एक दौर चालू होगा, जो परिवार के लोगों के बीच खाई बनाने का काम करेगा। माता-पिता का स्वास्थ्य भी इस दौरान कुछ कमजोर रहेगा। हालांकि भाई-बहन काफी अच्छे कलेवर में रहेंगे और अपने क्षेत्र में बढ़िया प्रदर्शन जारी रखेंगे। महीने के उत्तरार्ध में जब सूर्य का गोचर पंचम भाव में होगा तो उस पर शनि की दृष्टि भी पड़ेगी। ऐसे में आपको आपकी संतान से कुछ समस्याएं मिलेंगी, लेकिन परिवार का वातावरण थोड़ा ठीक होना शुरू हो जाएगा। इस दौरान आप मकान बदलने का विचार भी कर सकते हैं।